AdSense Native Ads से अपनी कमाई में बढायें – Earn More!

Posted By- #PanwerDishu

हैल्लो फ्रैंड्स , समय बदल रहा है ट्रैंड्स बदल रहे हैं इसी के साथ बदल रही रही एैडसैंस की नितियां। अब एैडसैंस अपने प्रकाशकों के लिये एक और साधन लेकर आया है जिससे ब्लॉगर अधिक कमाई कर सकते हैं। अगर आप नहीं जानते की ब्लॉगर क्या और कौन होता है तो यह पोस्ट पढ़ें –

1. एैडसैंस क्या है ? और इससे कैसे कमाते हैं ? 
2. बलौग-बलौगिंग-बलौगर क्या है पुरी जानकारी और बलौगिंग के फायदे.

दोस्तो हर ब्लॉगर चाहता है कि उसकी कमाई अधिक से अधिक हो , लेकिन अधिक साधन व जानकारी न होने की वजह से अधिक कमाई नहीं कर पाते है , लेकिन अधिक साधन खुद नहीं बनते उन्हे बनाना पड़ता है। मगर इस बार एैडसैंस नें बहुत बढिया अवसर दिया है जिससे आप अपनी अर्निंग में बढौती कर सकते हैं। कुछ ब्लॉगर इन विज्ञापनों का प्रयोग नहीं कर रहे हैं और कुछ को अभी पता ही नहीं चला इन विज्ञापनों के बारे में। लेकिन मैं आपको जानकारी देने से पहले यह बता देना चाहता हूं कि समय को साथ बदलिये , क्योंकि जो व्यक्ति समय के साथ बदल जाता है वो सफल हो जाता है और जो समय के साथ नहीं बदलता है वो वहीं का वहीं रह जाता है। और कुछ एैसे लोग भी होते हैं जो समय को ही अपने अनुसार बदलने पर मजबुर कर देते है, हमें इन लोगों की तरह बनना चाहिए।

फिलाहाल जरुरी है तो एैडसैंस की नयी नितियों को अपनाकर उसको साथ बदलने का क्योंकि अब एैडसैंस ने बेहतर नितियों का चुनाव किया है जिससे हमें बहुत ही ज्यादा फायदा हुआ है। हमने हाल ही में एक आर्टिकल भी प्रकाशित किया था जिसमे हमने आपको बताया था कि एैडसैंस ने पॉप अप और पॉप अप अंडर दिखने वाले विज्ञापनों पर पाबंदी लगा दी है। तो देखा इससे सभी पाठकों और प्रकाशकों को भी फायदा हुआ है, और उसके बाद नेटिव एड्स (Native Ads) का आना। मानों सपना सच हो गया हो। क्योंकि ये विज्ञापन दिखने में भी अच्छे है और लोग इनपर ज्यादा विश्वास भी करते हैं। तो चलिये आपको बताते हैं Native Ads Kya Hai In Hindi , Or Native Ads Ko Blog Me Keise Use Kiya Jata Hai ? 

नेटिव विज्ञापन क्या है ? what are native ads in Hindi ? 
नेटिव विज्ञापन , एैडसैंस कम्पनी द्वारा दिये जाने वाले विज्ञापन है जो सन् 2017 में लागू किये गये। इन विज्ञापनों का आकार एंव दिखावट बहुत ही मनमोहक है जो पाठकों को अपनी तरफ खिंचती है और उन्हे उस पर क्लिक करने के लिये मजबुर कर देती है। नेटिव विज्ञापनों पर अब एैडसैंस अधिक पैसा दे रहा है , इससे आप CPC बढाकर और भी ज्यादा कमा सकते हैं लेकिन यह आप पर निर्भर करता है कि आप नेटिव विज्ञापनों को किस प्रकार से लगाते हैं। इन विज्ञापनों पर पुराने वाले विज्ञापनों की तुलना में अधिक कमाई की जा सकती है। नेटिव विज्ञापन तीन प्रकार के है।

Three Types Of AdSense Native Ads: 
1. In-Feed Ads
2. In-Article Ads
3. Text & Display Ads

1. In-Feed Ads : इन विज्ञापनों को आप अपनी ब्लॉग की उस जगह के बीच में लगा सकते हैं जहां पर आप की सभी पोस्टें दिखती है। यानि आप InFeed Ads को सभी पोस्टों की लिस्ट के बीच में लगा सकते हैं क्योंकि यह Snippeted Description + Photo के साथ होती है। जिससे लोगों को लगता है कि यह आर्टिकल आपने लिखा है और लोग इस पर क्लिक करके अपने मनपसंद आर्टिकल तक भी पहूंच जाते हैं और आपकी कमाई भी हो जाती है। इसका यह फायदा भी है कि आपके विज़िटर्स को वो जानकारियां भी मिल जाती है जो आपने नहीं लिखी है। लेकिन किसी अन्य ब्लॉग या वेबसाइट पर उस विज्ञापन द्वारा उन्हे यह पढने को मिलता है।

In-Article Ads : इन विज्ञापनों को आप अपनी पोस्ट के बिच में लगा सकते हैं और अपने पाठकों को अच्छी सुविधा दे सकते हैं मगर याद रहे कि किसी विज्ञापन का पॉप अप बनाकर ना दिखायें क्योंकि यह एैडसैंस के नियमों के खिलाफ है , और एैडसैंस ने यह साफ साफ कह दिया है आप उनकी ब्लॉग पर जाकर पढ़ सकते हैं। लेकिन अगर आप इन विज्ञापनों का सही तरिके से इस्तेमाल करेंगे तो दिन में $100 से भी अधिक कमा सकेंगे। वरना अब एैडसैंस ने सख्त नियम बनाये है जिनके तहत आपका एैडसैंस अकांउट बंद कर दिया जा सकता है। उदाहरण देखें।

3. Text & Display Ads : दोस्तो ये वही पुराने विज्ञापन है जो आप सभी पहले भी इस्तेमाल करते थे। और अगर सच्च कहूं तो मैंने ये विज्ञापन अब भी ब्लॉग पर लगाये है , मैंने अभी तक इन्हे नहीं हटाया और ना हटाउंगा । क्योंकि किसी भी नयी चिज़ पर हम भरोसा नहीं कर सकते कभी भी बंद हो सकते है ये। लेकिन मैंने समय के साथ खुद को बदला है और नये विज्ञापनो का भी प्रयोग किया है। और अब ये ब्लॉग पेज़ पर दिखने में मात्र 20-25 मिनेट लेते है। जबकि पुराने विज्ञापन अधिक समय लेते थे।

तो दोस्तों कैसा लगा आपको ये आर्टिकल ? हमें कॉमेंट के माध्यम से जरुर बताएं व अपने सवाल जरुर पुछें। अगली पोस्ट में हम बतायेंगे कि नेटिव विज्ञापनो का सही प्रयोग कैसे किया जाता है।

हमें गैस्ट पोस्ट या कोई लेख भेजना चाहते हैं तो कृपया हमारी ई-मेल आईडी पर भेजें हमारी ई-मेल आईडी है Panwerdishu@gmail.com.

महत्वपुर्ण सुचना व प्राथना : 
मैं दाड़लाघाट , हिमाचल से हूं और आप ही की तरह एक ब्लॉगर हूं और ब्लॉग पर ट्रैफिक भी अच्छा आ जाता है लेकिन भारत से कम ट्रैफिक आता है। इसलिये मैं चाहता हूं कि आप हमारी ब्लॉग के बारे में लिखकर प्रकाशित करें ताकि लोगों को पता चल सके कि हिमाचल की एैसी ब्लॉग है जिस पर वो बहुत कुछ सीख सकते हैं और कुछ कर सकते हैं। मैंनें कई राज्यों के लोगों के टैलेंट के बारे में लिखकर सबको बताया और मैं चाहता हूं कि इसी प्रकार हमेशा भी लिखता रहूं इसके बाद मुझे सैंकडो विदेशी मेल आते हैं जिनमें लोग उनके बारे में लिखने के लिये कहते है लेकिन मैं चाहता हूं कि मैं ज्यादा लोगों के बारे में लिखकर समय बर्बाद ना करुं और सिर्फ भारत लोगों के बारे में लिखुं लेकिन भारत के लोगों को पता ही नहीं है कि एैसा भी कुछ है।

फ्री प्रमोशन के साथ साथ मैनें इंटरनेट/एैडसैंस से पैसे कमाने के बारे में , ब्लॉगिंग की जानकारी , कहानियां , कविताएं , इत्यादि पर भी लेख लिखे है जिससे मुझे लगता है कि भारत के लोगों को ब्लॉगिंग जैसी चिज़ों की जानकारी होनी चाहिए और एैडसैंस से पैसा कमाने के बारे में भी पता होना चाहिए क्योंकि आज के लोग काफी समय फोन पर व्यतित कर देते हैं और इंटरनेट के लिये बहुत सा पैसा खत्म कर देते हैं। अगर खर्च करने के साथ साथ एैडसैंस से कमाते भी रहे तो उन्हें फायदा होगा और इंटरनेट पर भारत की वेबसाइट्स और ब्लॉग्स की संख्या बढेगी।

तो अंत में आप से यही कहना चाहूंगा कि आप हमारा साथ दें ताकि हम भारत में टैक्नोलॉज़ी से वाकिफ करवा सके। और उन्हे भारत के बारे में अधिक बता सके।

www.imdishu.com 

अधिक जानकारी ब्लॉग पर देखिए या फेसबुक पेज पर पुछें।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *