गुगल एैडसैंस नें क्यों बंद कर दिये Pop Ups में दिखने वाले विज्ञापन ? जानिये कारण – Google AdSense

Posted by – @PanwerDishu

गुगल एैडसैंस ने आखिर क्यों बंद कर दिये Pop-ups Under Pop ups , यही आज हम आपको बताने वाले हैं इस पोस्ट में। गुगल एैडसैंस नें हाल ही में अपनी ब्लॉग पर एक पोस्ट की थी 11 जुलाई को जिसमें यह बताया गया था कि अब गुगल द्वारा पॉप अप्स जैसे पेज़ पर खुलने वाले विज्ञापन बंद कर दिये गये हैं। और शायद मेरे ख्याल से यह भी एक अच्छी पॉलिसी है। गुगल नें अपनी Policies को और भी बेहतर बनाने के लिये लगातार प्रयास किये है। तो चलिये जानते हैं कि गुगल एैडसैंस ने क्यों बंद कर दिए इस प्रकार के विज्ञापन।

गुगल एैडसैंस ने लिखा कि :
गुगल पर, हम उपयोगकर्ताओं, विज्ञापनदाताओं और प्रकाशकों को समान रूप से मानते हैं हमारे पास ऐसी नीतियां हैं जो यह निर्धारित करती हैं कि गुगल के विज्ञापन कहाँ दिखें और उनका कार्यान्वयन कैसे किया जाना चाहिए। ये नीतियां सकारात्मक उपयोगकर्ता अनुभव सुनिश्चित करने में मदद करती हैं, साथ ही साथ एक स्वस्थ विज्ञापन इकोसिस्टम बनाए रखती हैं जो प्रकाशकों और विज्ञापनदाताओं दोनों को लाभ देती हैं।

आपका ध्यान पाने के लिए, कुछ विज्ञापन आपकी वर्तमान ब्राउज़र विंडो के सामने पॉप अप करते हैं, जो आप देखना चाहते हैं उस सामग्री को अस्पष्ट करते हैं पॉप के तहत विज्ञापनों के साथ कष्टप्रद हो सकता है, के रूप में वे अपने विंडो ‘के तहत पॉप “होगा, ताकि आप उन्हें नही देख रहे है जब तक आप अपने ब्राउज़र को कम। हमें विश्वास नहीं है कि ये विज्ञापन एक अच्छा उपयोगकर्ता अनुभव प्रदान करते हैं, और इसलिए गुगल विज्ञापनों के लिए उपयुक्त नहीं हैं।

यही कारण है कि हमने हाल ही में किसी भी अस्पष्टता को हटाने में मदद करने के लिए हमारे नीतिगत पॉप-अप और पॉप-अंडर्स को स्पष्ट किया है अपनी नीतियों को सरल करने के लिए, हम अब उन Pages को जो एक पॉप-अप या पॉप-अंडर के रूप में लोड किए गए हैं पर गूगल विज्ञापन की नियुक्ति की अनुमति बंद कर रहे हैं। इसके अतिरिक्त, हम किसी भी साइट है या जिसमें से पॉप अप खुलता है , गूगल विज्ञापन पॉप-अंडर में दिखाए जाते हैं, उन सभी पर गूगल के विज्ञापन की अनुमति नहीं देते।

उभरते रुझान को पूरा करने के लिए हम लगातार हमारी नीतियों की समीक्षा और मूल्यांकन करते हैं, और इस मामले में हमने निर्धारित किया है कि नीति परिवर्तन आवश्यक था।
सभी नीतियों के साथ, प्रकाशक यह सुनिश्चित करने के लिए अंततः जिम्मेदार हैं कि उनकी साइट पर यातायात गुगल नीतियों के अनुरूप है। प्रकाशकों की सहायता के लिए, हमने ट्रैफ़िक खरीदने के सर्वोत्तम तरीकों पर मार्गदर्शन प्रदान किया है।

तो दोस्तो अब आप समझ गये होंगे कि एैडसैंस ने पॉप अप में खुलने वाले विज्ञापनों पर Ban क्यों लगा दिया है , दरअस्ल गुगल टीम यह कहना चाहती है कि हमारे विज़िटरों को इस से परेशानी आती है , जो वो लोग पढ़ना चाहते हैं उन्हे नहीं मिल पाता और पॉप अप्स ही खुलते जाते है, जिससे एक अच्छा युज़र अनुभव नहीं मिल पाता यही कारण हैं कि एैडसैंस नें पॉप अप्स पर बैन लगा दिया है। साथ ही उन लोगो के अकाउंट पर भी बैन लगा दिया जायेगा जो अपनी वेबसाइट/ब्लॉग में पॉप अप्स में विज्ञापन दिखाते है।


यदि आप इस बारे में अपने सुझाव देने चाहते हैं तो कृपया कॉमेंट करके हमें बताएं कि क्या गुगल एैडसैंस नें यह सही निति तैयार की ? और यदि आप www.imdishu.com पर गैस्ट पोस्ट करना चाहते हैं तो Panwerdishu@gmail.com पर भेजें। और हमसे जुड़े रहने के लिये हमारा फेसबुक पेज़ लाइक करें। 

एैडसैंस से संबधित और हाल ही में अपड़ेट हुए आर्टीकल : 
1. एैडसैंस क्या है – पुरी जानकारी What Is AdSense In Hindi.
2. Invalid Click क्या है और इससे कैसे बचें ? – AdSense Fake Clicks On Ads.
3. लोकल और ग्लोबल ट्रेडमार्क में क्या अंतर होता है ? Local vs Globle Trademark.
4. ब्लॉगस्पोट से कस्टम डो़मेन में बदलने से होते है यह प्रभाव – Effects Of Custom Domain In Blogger.
5. अनुप आर्यन जैसे लोग रचते है इतिहास.
6. सभी बेटियों को समर्पित – Respect Girls Please.
7. महाकाल बाबा – शायरी कॉलेक्शन.
8. जैसमिन – अनकही कहानी Jasmine Chandla The Untold Story.
9. वेब डेवलपर बनने के लिये क्या करें- हिन्दी में.
10. अपने फेसबुक पेज़ पर Likes कैसे बढाये – हिन्दी How To Increase Facebook Page Likes In Hindi.

Leave a Reply