HTML , Attributes और Elements क्या है पुरी जानकारी

हैल्लो स्टुडेंट्स यह दुसरा पाठ है , और आज आप सिखेंगे HTML के Tags , Attributes और Elements के बारे में। तो पहले बता देना चाहता हूं कि इस पाठ को ध्यान देकर पढ़ना क्योंकि इससे आप <Tags> की पुरी जानकारी हासिल कर सकते हैं। तो चलिये शुरु करते हैं।

HTML : 
<tag name> हमेशा ही ब्रैकेट्स () <> में बंद होते हैं जैसे – <tagname> panwer dishu </tagname>.

साधारणतः HTML Tags के दो जोड़े एक साथ आते हैं और उन दोनों का प्रयोग करना जरुरी होता है, और अगर आप उन में से किसी एक को लिखना भुल जायेगें तो सारे डॉक्युमेंट में उथला पुथली मच जायेगी। तो ध्यान दें , मैं बता रहा हूं उदाहरण –

हर HTML Tag हमेशा दो जोडे़ , एक Opening Tag <> और दुसरा Closing Tag </> के साथ होते हैं। और इन Tags के अंदर आप टैगनेम लिख सकते हैं जैसे <b>. यह B हमारे अक्षरों को बोल्ड बनाता है तो इसे कुछ इस प्रकार से लिखेंगे –

<b> panwer dishu </b>

ध्यान दें – यदि आप Closing Tag नहीं लगायेंगे तो यह <b> टैग आपके सभी शब्दों को बोल्ड बनाता जायेगा जहां तक आप क्लोज़िंग टैग नहीं लगायेगें। Starting tag यानि opening tag भी closing tag की तरह ही होता है लेकिन उसमें श्लैश / का प्रयोग होता है जैसे : </>

Attributes : 
अब बारी आती है Attributes की , दरअस्ल Attributes भी आपकी इन्हीं के साथ में जोड़ने होते हैं , जिनसे आप के शब्दों को बेहतर रंग , आकार , डायरैक्शन दे सकते हैं।
जब Attribute Tag लगता है तो आपके शब्द कुछ एैसे दिखते है –
< tag attribute=”value”>margarine </tag>

अब मैं थोड़ा विस्तार से समझाता हूं , आपको सभी Attributes की लिस्ट पढ़नी होगी जिससे आप उनके उपयोग भी सीख जायेंगे , और कौन सा एट्रीब्युट कहां लगाना है यह जानकारी भी आवश्यक है अभी के लिये मैं बस एक उदाहरण दे रहा हूं जिससे आपको समझने में आसानी होगी।
जब हम कोई लिंक लिखते हैं किसी पैराग्राफ के किसी शब्द में , तो कुछ इस प्रकार से लिखते हैं :

<a href=”www.imdishu.com”> panwer dishu </a>

देखा ? इसमें टैग है <a> और एट्रीब्युट है href , और वैल्यु है link address , और इसका आउटपुट यानि  Margarine है panwer dishu फिर उसके बाद लगाया गया closing tag </a>.

यहां पर टैग भी कई तरह के लगाये जा सकता है , एट्रीब्युट भी और वैल्यु भी आदि ,भी । वो निर्भर करता है कि आप क्या करना चाहते हैं। उपर जो मैंने कोड़ लिखे , उनको अगर सेव करके रिव्यु किया जाये तो सिर्फ Panwer dishu दिखेगा और बाकि कोड़ नहीं दिखेंगे। और उस Panwer Dishu पर आप क्लिक कर सकेंगे क्योकि हमने इसे लिंक में बदला है। तो चलिये आगे पढ़ते है।

Eliments :
इसमें आपकी वो सभी चिज़े शामिल है जिनसे वेब पेज़ तैयार होगा , जैसे कि : Body , Paragraph , Title आदि। यह जानना आवश्यक नहीं क्योंकि यह बहुत आसान चिज़ है , लेकिन आप कन्फयुज़ है क्योंकि आप इनके टैग नहीं जानते। थोड़ा ध्यान निचे दिजिये फिर आप खुद़ भी HTML Document बना पायेंगे।

किसी भी HTML डॉक्युमैंट को बनाने के लिये उसमें सबसे उपर उस भाषा को लिखा जाता है जिसमें आप डॉक्युमैंट बनाना चाहते हैं जैसे HTML , XHTML।
अगर आप HTML में डॉक्युमैंट लिख रहे है तो कुछ इस तरह से होगा। <!doctype html>
और इसके बाद HTML का ओपनिंग टैग लगाया जाता है, <HTML>
बस इन दो टैग्स के बाद आप यहां किसी भी प्रकार का डॉक्युमैंट बना सकते हैं जैसे कि मैं बना रहा हूं :

<head>
<title> Imdishu Blog </title>
</head>

अब उसके बाद Body , क्योंकि इसके बाद डॉक्युमैंट की बॉडी भी तो बनानी है।
<body>
<h1> Intro </h1>
<p> this is a www.imdishu.com , where you can learn online programming for free. </p>
</body>

अब इसके बाद आपने जो सबसे उपर html का ओपनिंग टैग लगाया है उसको यहां पर क्लोज़ करना है।
</html>

तो ये बना आपका डॉक्युमेंट जो hmtl में बनाया गया। और इसमें आप विभिन्न प्रकार को कोड़ इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे शब्दों को बोल्ड करने के लिये <b> का प्रयोग और किसी लिंक को बनाने के लिये <a> का प्रयोग और उसको साथ एट्रीब्युट।

तो आज आपने क्या सीखा ? क्या आपको यह पुरा समझ में आया ? क्या आपके मन में कोई प्रशन है ? तो जल्दि से मुझे ई-मेल करके बताईये , वरना अगला पाठ मैं नहीं लिख पाउंगा , आप निचे कॉमेंट भी कर सकते हैं , आप कॉमेंट में भी इसे लिखने का प्रयास कर सकते हैं।

क्या आप इससे अगला पाठ पढ़ना चाहते हैं ? क्या आप पुरी प्रोगरैंमिंग हिन्दी में यहां पर पढ़ना चाहते हैं ? तो मुझे ई-मेल करके बताएं , मैं आप के रिस्पांस के हिसाब से ही आगे लिखुंगा वरना ये यहीं पर बंद कर दूंगा।

हमसे जुड़े रहने के लिये फेसबुक पेज़ लाइक करें :
Imdishu

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *