हिन्दी ब्लॉगिंग : Hindi Blogging

Posted by : #PanwerDishu

हिन्दी ब्लॉगिंग


हिन्दी ब्लॉगिंग : Hindi Blogging. कितना अच्छा लगता है ना यह शब्द.? जब बात हो अपनी मातृभाषा की तो बात ही कुछ अलग होती है। क्योकि हम अपनी मातृभाषा से प्रेम करते हैं , इसे अच्छी तरह समझते हैं। लोग चाहे कितनी भी डिंगे मार ले कि अंग्रेजी ब्लॉगिंग ( English Blogging ) से ज्यादा पैसा कमाया जा सकता है। लेकिन मैं इस बात को नहीं मानता , क्योंकि हिन्दी ब्लॉगिंग हमें सुख देती है , मन से और धन से। हम इससे आसानी से कमाई कर सकते हैं लेकिन थोड़ा धेर्य चाहिए।  साथ ही इसमें थोड़ी तरकिबें भी अपनानी पड़ती है अपनी कमाई बढ़ाने के लिये, लेकिन अगर आप शुरु से ही बेहतर ढंग से काम कर रहे हैं तो आपको किसी बात की चिंता करने की आवश्यकता नहीं होती आप बीच में कुछ वक्त के लिये आराम भी करना चाहे तो भी आपकी ब्लॉगिंग में कोई बाधा नहीं आती। और कमाई निरंतर बढती रहती है।

मेरा मानना है कि इंगलिश ब्लॉगिंग की तुलना में हिंन्दी ब्लॉगिंग से अधिक कमाई की जा सकती है। और अगर आप इस बात से सहमत नहीं है तो जाकर पुछ लिजिये उन हिन्दी ब्लॉगर्स से जिन्होंने हिन्दी ब्लॉगिंग करके सफलता पायी है। और यह भी पुछना कि इसमें कितना समय , मेहनत , धैर्य , विश्वास , रातें लगी। है। अगर आप सोच रहे हैं कि आज हिंन्दी ब्लॉग शुरु करुं और कल सुबह एैडसैंस अकाउंट में दस लाख डॉलर आ जाये ? तो यह असंभव है। लेकिन मैं मानता हूं कि अगर यही बात हम हिन्दी ब्लॉग शुरु करते , उसपर नियमित काम करके , बेहकर लेख लिख कर , धैर्य से , बीस साल बाद यह बात सोचे तो यह मुमकिन हैं। क्योंकि इन बीस सालों में आप सब समझ जायेंगे कि किस तरह से पैसा कमाना है , और किस तरह से नहीं , आप समझ जाते हैं कि आपने अगर 20 सालों में 4000 लेख लिखकर प्रकाशित किये हैं तो आपके 4000 लेख आपको दस लाख डॉलर दे सकते हैं। क्योंकि इसमें आपकी मेहनत लगी होती है और बुज़ुर्गों का कहना हैं कि ” हमारी मेहनत की कमाई कभी कोई नहीं छिन सकता , ना किस्मत ना समय।”

तो यही आपको भी सोचना होगा और धैर्य रखकर लिखते जाना होगा। बीस साल नहीं तो दस साल में एैसा समय लाया जा सकता है , इस जहान में कोई कार्य असंभव नहीं है। हां थोड़ी मुशकिलें जरुर है अगर उन मुश्किलों में इन्सान हार मान ले तो सच में वह कार्य असंभव होने लगता है।  लेकिन कुछ लोग होते है जो ब्लॉग को बेहतर तरिके से लिखते हैं मगर विज्ञापन लगाकर पैसा कमाना नहीं चाहते , ख़ैर यह तो उनकी अपनी बात है लेकिन अगर मेरी माननी हो तो एैडसैंस के लिये आवेदन किजिये और अगर आप नहीं चाहते कि आपके पाठकों को विज्ञापनों की वजह से लेख पढ़ने मे कोई परेशानी आये तो आप हर पेज़ पर कम से कम एक विज्ञापन भी लगा सकते हैं इससे आपकी कमाई भी हो जायेगी और पाठकों को पढ़ने में कोई दिक्कत भी नहीं होगी। अगर आप विज्ञापन लगाना ही नहीं चाहते तो यह भी अच्छी बात है आप अपने शौंक के लिये भी ब्लॉगिंग कर सकते हैं मैं जानता हूं कि ब्लॉगिंग जरुरत से शुरु होती है मगर फिर शौंक में बदल जाती है।

हिन्दी ब्लॉगिंग करने के बाद होगा यह कि , शुरु शुरु के सालों में आप अपने मासिक व सालाना व्यय जुटाने में सक्षम हो जायेंगे और धीरे धीरे आपकी कमाई बढ़ने लगेगी और कुछ समय बाद एैसा समय आयेगा कि आपकी कमाई सफलता की ऊंचाईयों तक पहुंच कर आप की कड़ी मेहनत की दास्तान सुनायेगी। अगर आप विवेक से काम ना लेकर हिन्दी में ब्लॉग लिखना छोड़ देते हैं तो आप का सपना यहीं पर खत्म , साथ ही एक हिन्दी ब्लॉगर खत्म , गुगल ने जो हिन्दी के उत्थान का प्रयास किया उसमें उन्हे निराशा मिलना शुरु , आप के कमाई के साधन कम , नये लोगों से पहचान होना खत्म , आप अपनी कला का प्रदर्शन नहीं कर पायेंगे, दुसरा व्यवसाय ढुंढना पड़ेगा, जो पैसा ब्लॉगिंग में लगाया होगा वो व्यर्थ , आप हार मान जायेंगे तो आपकी असफलता का होना शुरु , देखा एक काम को छोड़ने से कितने नुकसान हो जायेंगे  ?

आप पहली बार हिन्दी ब्लॉगिंग कर रहे हैं , और इसमें हिम्मत हार कर इसका त्याग कर नया काम ढुंढने लगते है इससे पता चलता है कि आप में किसी कार्य में सफलता पाने की चाहत नहीं है , आज आपने यह काम छोड़ा कल को दुसरा छोड़ेंगे , यानि आप कभी भी एक काम पर नहीं टिक सकेंगे, आप कभी सफलता नहीं देख सकेंगे। अगर आप दृढ़ निश्चय लेकर असफलता से भरी ब्लॉगिंग में सफलता पा लेते हैं तो आप किसी भी चिज़ में सफलता पा सकते हैं। यहीं पर आप सच्चे हीरो साबित होते हैं क्योंकि आप वो कर देते है जो नामुमकिन के बराबर होता है फिर आप जो भी काम करेंगे उसे धैर्य से करना शुरु कर देंगे क्योकि आप जान जायेंगे कि सफलता एक रात में नहीं मिलती , सफलता पाने के लिये दिन रात मेहनत करनी पड़ती है।

जिस दिन आप ने धैर्य से काम करना शुरु कर दिया बस समझ लेना आपने कामयाबी की राह पर कदम रख़ लिया। अब आप समझ गये हैं और हिन्दी में ही ब्लॉग लिखने के लिये तैयार हो गये हैं मगर अभी भी एक चिंता खाये जा रही है कि रोज़ रोज़ लिखा क्या जाये ? मैं कहूंगा कि आप उन चिज़ों पर लिखना शुरु करें जिन में आप निपुण है। और उन चिज़ों पर लिखना शुरु करें जो ट्रैंड ( Trend ) पर होती है। आप ट्रैंड जानने के लिये गुगल पर सर्च कर सकते हैं। और जो चिज़ ट्रैंड पर 5 वें नंबर पर है उसके बारे में बढ़ा चढ़ा कर लिखिये , मैं ये नहीं कहता कि झुठ लिखिये बल्कि मेरे कहने का आश्य है कि बात को थोड़ा बढ़ा कर लिखिये यही एक सच्चे लेखक , पत्रकार , संपादक की पहचान है। जब तक आप बात को गंभीर और आकर्षक नहीं बनाते तब तक पाठक आपकी बात को पढ़ने में दिलच्सपी नहीं लेते हैं। तो प्रयत्न करिये कि बात को थोड़ा बड़ा करें। इससे आपका लेख भी थोड़ा बढ़ जायेगा जो SEO ( Search Engine Optimization) के लिये भी अच्छा होता है।

अगर SEO की बात की जाये तो मैं सच कहना चाहूंगा कि मेरी ब्लॉग का एस ई ओ सही नहीं है , मैने अपनी तरफ से तो पुरा प्रयास किया है मगर Blogger और WordPress के मुकाबले में वर्डप्रैस बेहतर है जो मैंने नहीं लिया। मैं फिलाहाल ब्लॉगर पर ही हूं और इसी में सफलता पाकर दुनिया को दिखा दुंगा कि एक तो मैंने हिन्दी में ब्लॉगिंग की , और ऊपर से ब्लॉगर पर जहां पर सिर्फ मनोरंजन के लिये ब्लॉगर की जाती है। कोई भी सफल ब्लॉगर कभी Blogger का प्रयोग नहीं करता लेकिन मैं करता हूं और मेरा दृढ़ निश्चय एंव विश्वास मेरा साथ देता है। लेकिन हाल ही में हुए ट्रैफिक के उतार- चढाव को देखकर मैं सोच रहा था कि वर्डप्रैस पर ब्लॉग माइग्रेट कर लूं क्योंकि अगर आगंतुक ( Visitors) नहीं तो कुछ भी नहीं। लेकिन अभी आर्थिक समस्याओं के चलते यह कर पाना मेरे लिये मुश्किल है , पर अगले साल (2018) से मैं प्रयास करुंगा कि नये नये बदलाव लाउं अपनी ब्लॉग में जैसे : वर्डप्रैस पर ले जाना , अच्छी होस्टिंग लेना , अच्छी थीम ख़रीदना , फेसबुक पर अपने पेज़ को भुगतान करके प्रमोट करना ताकि नये लोगों को ब्लॉग का पता चल सके। और भी कई चिज़े है जिन्हे में बदलना चाहूंगा।

एक तो यह है कि मैं कई महीनों से सबके टैलेंट व युट्युब चैनल को फ्री में प्रमोट कर रहा हूं मगर सन् 2018 से मैं यह सेवा नहीं दुंगा , अगर कोई लेख लिखवाना चाहे या प्रमोशन करवाना चाहे तो उसे निश्चित राशि का भुगतान करना होगा तभी आपका लेख आयएमदिशु पर प्रकाशित होगा अन्यथा आपका लेख हरगिज़ भी पब्लिश नहीं किया जायेगा यह कहानी लम्बी है दोस्तो , मैंने कई महीनों से लोगों को फ़ेसबुक पर ढुंढ ढुंढ कर उनके टैलेंट के बारे में लिखा , तो कई लोगों ने मुझे खुद ई-मेल करके कहा कि दिशु जी मेरे बारे में लिखिये , और सच में उन लोगों की कहानियां बड़ी प्रेरणाओं से भरी थी , मैं उनके बारे में लिख कर बहुत खुश हुआ उन लोगों ने वाकई में कुछ कर गुज़रने की सोची है मैं उनको मंजिल तक पहुंचा कर उनकी ख़ुशियों में शामिल होना चाहता हूं बस मैंने लोगों की मदद करना शुरु कर दिया अब हजारो टैलेंट वाले लोग एैसे है जिनको पता ही नहीं हमारे बारे में , मैं हिन्दी ब्लॉगर्स से विनम्र प्रार्थना करता हूं कि कृपया हमारी ब्लॉग के बारे में लिखिये ताकि लोग जान सके और उनकी कुछ मदद हो सके।

अगर बात की जाये हिन्दी ब्लॉगिंग की तो मैं आपको भी यही सलाह दुंगा कि आप भी हिन्दी ब्लॉग को बंद ना करके इसमे कुछ जरुरी बदलाव लाइये जो आपको कमाई ( Earning) बढ़ाने में मददगार साबित होंगे। और लिखना बंद मत करिये , अगर आप यह सोच कर हिंन्दी लिखना बंद करेंगे कि शायद कल एैडसैंस हिंन्दी को सपोर्ट ना करे , तो इसके चक्कर में आप अपना “आज” खो रहे हैं और पिछड़ रहे हैं , बाकि ब्लॉगर जो आत्मविश्वास के साथ इस मैदान में उतरे है वो बाज़ी मार जायेंगे और एक दिन आप पछताते रह जायेंगे कि काश उस दिन लिखना बंद ना किया होता तो आज एैडसैंस द्वारा दिये नये तरिकों को अपना कर लाखों कमा लेता। एैसा इसलिये क्योंकि एैडसैंस अपनी नितियों व कानुनों में बदलाव लाता रहता है  , और कमाई बढ़ाने के लिये नये नये तरिके बताता रहते हैं हमें इसका फ़ायदा लेना चाहिए क्योकि अवसर जो मिला है।  अगर यह अवसर हाथ से निकला तो ढुंढते रहना सरकारी नौकरी।

दोस्तो अर्निंग बढ़ाने का बेहतर तरिका होता है कि आप किसी हाई ट्रैफिक ब्लॉग ( High Traffic Blog ) में गेस्ट पोस्ट के रुप में अपना लेख प्रकाशन के लिये दें ताकि आपको डू-फॉलो लिंक प्राप्त हो सके और आपको विजि़टर मिल सके , जितने ज्यादा विज़िटर उतनी ज्यादा कमाई , अगर आप यह सोच कर गैस्ट पोस्ट नहीं करते कि इससे दुसरे की ब्लॉग का ट्रैफिक बढ़ेगा तो यह आप का वहम है लोग आपकी ही ब्लॉग पर आयेंगे अगर उन्हे आपकी जानकारी अच्छी लगे , क्योंकि विज़िटर सोचते हैं कि जिसने इतनी अच्छी गैस्ट पोस्ट की है उसकी ख़ुद की ब्लॉग पर कितनी अच्छी पोस्टें होंगी। आपके विज़िटर यहीं से बढ़ने शुरु हो जाते हैं। अगर हिंन्दी लिखकर कमाना चाहते हैं तो गैस्ट पोस्ट करना शुरु किजिये , ट्रैफिक अपने आप आयेगा।
तो अाज बस बात यहीं खत्म होती है , मैं अगली बात अगली पोस्ट में करुंगा। आप अपने सवाल कॉमेंट करके पुछ सकते हैं मैं प्रयास करुंगा आप को जल्दी जवाब देने का। अगर आप हमें कोई लेख भेजना चाहते हैं तो हमारी ई-मेल आईडी पर भेज सकते हैं हमारी ई-मेल आईडी है Panwerdishu@gmail.com और हम आप को Dofollow Link भी देते हैं ताकि आपके आगंतुक बढ़ने में मदद हो सके।  दोस्तो हम नियमित रुप से पोस्ट प्रकाशित करते हैं आप हर रोज़ हमारी ब्लॉग पर आकर कुछ नया पढ़ सकते हैं जो आप को आगे बढ़ने में मदद करेगी। हमसे फेसबुक पर जुड़ने के लिये हमारा फेसबुक पेज़ लाइक करें। #imdishu और टवीटर पर फ़ॉलो करने के लिये यहां पर टेप करें @www_imdishu_com

हिन्द के रखवाले हैं हम , हिन्दी हमारी जान है।
हिन्दू है धर्म से हम , और हिन्दी हमारी पहचान है।
– Panwer Dishu

Keywords : Hindi Blogging , Hindi Blogging Tips , Hindi Blogging Inspiration  , Hindi Blogging Vs English Blogging , Hindi Blogs , Hindi Bloggers , Success In Hindi Blogging , Online Job , SEO,  Hindi , Imdishu’s Next Year Planing , How To Earn Money Online In Hindi , Write Your Blog In Hindi , Hindi Language  , How to Save Our Hindi Language.

Words : 1968.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *