हिन्दी ब्लॉगिंग में आने वाली समस्याएं – Hindi Blogging Me Kon Kon Si Problems Aati Hai ?

नमस्कार , आज हम आपको बताने जा रहे है कि हिन्दीं ब्लॉगर्स (Hindi Bloggers) को ब्लॉगिंग में खासकर कौन सी समस्या आती है , आपको यह पोस्ट जरुर पसंद आयेगी , और इस पर टिप्पणी जरुर किजियेगा।

ब्लॉगर प्लेटफोर्म में हिन्दी में लिखना बेहद आसान हैं, ब्लॉगर से मेरा मतलब Blogger Blogs से है जो Blogger.com पर बनी होती है। तो दोस्तो अापने जरुर देखा होगा कि ज्यादातर हिन्दी ब्लॉग्स ब्लॉगर पर ही बनी होती है और उसी पर वो आसान भी रहती है , उन हिन्दी ब्लॉग्स के निर्माता अपनी ब्लॉग्स को ब्लॉगर पर इसलिये रखते हैं क्योंकि Blogger.com गुगल का ही प्रोडक्ट है और गुगल हिन्दी भाषा को बढावा देने का प्रयास कर रहा है यही कारण है कि ब्लॉगर पर हिन्दी में लिखना आसान और फायदेमंद है। मगर ब्लॉगर पर कुछ ब्लॉगिंग कर रहे ब्लॉगर्स गलतियां कर देते हैं जिससे उनकी काफी हानी का सामना करना पड़ता है। तो क्या है वो गलतियां यह जानने के लिये आपको इस पोस्ट को पुरा पढ़ना होगा।

वैसे तो इंटरनैट पर एैसे लाखों आर्टीकल मिल जायेंगे जिनमे ब्लॉगिंग में आने वाली सभी समस्याओं का समाधान बता दिया जाता है , लेकिन हिन्दी में ब्लॉगिंग कर रहे दोस्तो को कुछ एैसी परेशानियां आती है जिनका उल्लेख इंटरनेट पर नहीं मिलता। खासकर हिन्दी ब्लॉगर्स इन समस्याओं को ध्यान से पढिये।

गुगल में सर्च करने की समस्या 
कुछ हिन्दी ब्लॉगर्स होते हैं जिनको SEO (Search Engine Optimization) की जानकारी नहीं होती और बस वहीं से उनकी ब्लॉग में ट्रैफिक आना कम हो जाता है। अगर आप ब्लॉग पोस्ट का सही SEO नहीं करेंगे तो आप एैडसैंस से कभी कमाई नहीं कर पायेंगे
और अगर कमाई नहीं कर पायेंगे तो आप निराश होंगे क्योंकि हम हिन्दी ब्लॉगर्स बड़ी मेहनत से हिन्दी में लिखते हैं ताकि लोगों को हिन्दी में जानकारियां मिल सके , लेकिन इसके बावजुद भी हमें हमारी मेहनत का फल ना मिले तो यह करना बंद ही कर देना चाहिए या फिर ब्लॉगिंग को सिर्फ अपने शौंक के लिये करना चाहिए। सबसे पहले ब्लॉग पोस्ट्स का सही SEO करने की जानकारी लिजिये। फिलाहाल यह पोस्ट पढे़ – SEO Kya Hai? SEO Ki Puri Jankari
ब्लॉग में अच्छी पोस्ट लिखने के पांच तरिके।

Permalink Ki Problem
यह भी SEO से संबधित है , अगर आपकी पर्मालिंक अच्छी है तो आपकी पोस्ट गुगल में दिखेगी , अगर नहीं तो नहीं दिखेगी अक्सर हम हिन्दी में पोस्ट लिखते हैं तो हम उसका टाइटल (Title) भी हिन्दी में ही लिखते हैं जिसके कारण आपकी पोस्ट Yourblog.com/15/2017/blog-post.html की तरह दिखती है , जबकी आपकी ब्लॉग पोस्ट की पर्मालिंक एैसी होनी चाहिए – Yourblog.com/15/2017/Learn-blogging-in-hindi.html 
इसमें काफी अंतर है और इतना अंतर है कि आपकी पोस्ट गुगल में शो नहीं हो पायेगी। और आप पर्मालिंक को हिन्दी में नहीं लिख सकते है , वैसे हिन्दी में कोई सर्च भी नहीं करता , सभी हिंगलिश में लिखकर सर्च करते हैं जैसे – Hindi blogging Me Kya Kya Problems Aati Hai ? 
और आप को अपनी पर्मालिंक भी इसी भाषा में लिखनी है तभी पोस्ट सर्च में आ पायेगी , और हर शब्द के बीच में – लगाना ना भुलें जैसे – Hindi-blogging-me-kya-kya-problems-aati-hai. 
शायद अब आपने यह समस्या सुलझा दी होगी। , अगर आपने कोई हिन्दी पोस्ट लिखी है जिसकी पर्मालिंक इस प्रकार की हो तो उसे जल्दी बदलें।

पर्मालिंक कैसे बदलें ? How to change Permalink In Hindi ) 
पर्मालिंक बदलने के लिये अपने द्वारा की गयी पोस्ट को पहले Revert To Draft करें अब पोस्ट एडिटर खोल के पर्मालिंक बदल लें , और दोबारा पोस्ट को प्रकाशित कर दें।

कम सी पी सी की समस्या (Low CPC Problem For Hindi Newbie Bloggers) 
हिन्दी में विज्ञापन देने वाले कम है , और लोग हिन्दी की जगह इंगलिमें सर्च करते हैं इन्ही कारणों से हमारी सी पी सी कम होती है हिन्दी ब्लॉगिंग करियर में सी पी सी कैसे बढ़ाई जाये ? हमें इस पर सोचना पड़ेगा , और जल्दी से कोई हल निकालना पड़ेगा जो सभी हिन्दी ब्लॉगर्स के हित में होगा। और अपनी मेहनत से अच्छी कमाई कर पायें। वैसे आप एैडसेंस रे डैशबोर्ड पर जाकर Experiments करिये , Allow & Block Ads करिये जिसकी वजह से आपकी कमाई बढ़ जायेगी। लेकिन जो युनिक विज़िटर से अच्छी कमाई के तरिके है उन पर हम किसी दुसरे आर्टिकल में चर्चा करेंगे।

हिन्दी ब्लॉग पढ़ने वाले 
वैसे तो हिन्दी पढने वालों की कमी नहीं है लेकिन लोगों को पता ही नहीं है कि ब्लॉग्स भी कोई चिज़ है जिनपर उन्हे हिन्दी में जानकारी मिल सकती है , लोग ब्लॉग्स को भी वेबसाइट समझते हैं अगर सच कहूं तो एैसा सिर्फ भारत में ही होता है।
तो कोशिश करें कि अधिक से अधिक लोगों को ब्लॉगिंग के बारे में पता चल सके , ताकि उन्हे इंटरनेट को समझने में आसानी हो सके। ज्यादातर लोग इंगलिश ब्लॉग्स पढ़ते रहते है क्योंकि उन्हे पता ही नहीं है कि जो जानकारी वो इंगलिश में प्राप्त कर रहे हैं वो हिन्दी में भी मिल सकती है और भले ही उन्हे इंगलिश समझ में ना आये लेकिन पढ़ेंगे जरुर , एैसा क्यों ? अगर आप अंग्रेजी नहीं जानते तो इसमें बुराई क्या है ? आप हिन्दी में पढिये , यहां इंटरनेट पर लाखों करोड़ो आर्टिकल है जिनमे आपकी पसंद की जानकारी भी मिल जायेगी , बस हिन्दी में सर्च करें।

अंतिम शब्द
दोस्तो अंत में यही कहूंगा कि आप सभी लोग आज से हिन्दी में ही सर्च करना शुरु कर दिजिये , जिससे आपको हिन्दी में जानकारी प्राप्त होगी और हिन्दी भाषा की रैंक बढ़ेगी जिससे हिन्दी में अधिक सी पी सी मिलनी शुरु होगी औप हिन्दी में लिखने वालों को भी अच्छी कमाई करने के अवसर प्राप्त होंगे। आप बस प्रयास करें आपका एक प्रयास हिन्दी की उन्नति में सहायक होगा। वरना एैडसेंस हिन्दी को ब्लॉक कर देता है जैसा कि सन् 2007 में किया गया था , उन्होने ब्लॉगर को भी इंडिया में बंद कर दिया था लेकिन आज वो समय नहीं है आज हमारे भारत में लाखों हिन्दी ब्लॉगर्स है जिन्होंने पैसे की परवाह ना करते हुए भी हिन्दी में लिखा और अब आप सभी की बारी है अब आप को हिन्दी में सर्च करको हमारा समर्थन करना होगा , अगली बार जब भी गुगल पर सर्च करें तो हिन्दी में सर्च करें। जय हिन्द

यह पोस्ट भी पढ़ें – 
1. दिल्ली के सभी ब्लॉगर्स की लिस्ट.
2. हिमाचल के सभी ब्लॉगर्स की लिस्ट एंव जानकारी

दोस्तो अगर आपके पास कोई आर्टिकल , कहानी , कविता , शायरी , अन्य लेख है जिसे आप www.imdishu.com पर प्रकाशित करवाना चाहते हैं तो कृपया हमे अपना आर्टिकल हमारी ई-मेल आईडी पर भेजें हमारी ई-मेल आईडी है Panwerdishu@gmail.com. और यदि आप हमें गैस्ट पोस्ट भी भेजना चाहते हैं को भी ई-मेल पर भेजें। और हमारा फेसबुक पर पेज़ लाईक करना ना भुलें। 

Leave a Reply